दुनिया में 50 से ज्यादा मुस्लिम देश है वो रोहिंग्याओं को शरण क्यों नहीं देते ? : श्वेता सिंह

रोहिंग्या मुसलमानो पर बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा है की
“रोहिंग्या हमारी समस्या नहीं है, हम उनका बोझ क्यों उठाएं”

दुनिया में 50 से ज्यादा मुस्लिम देश है, और इनमे से कई मुस्लिम देश तेल बेचकर बहुत अमीर भी हो चुके है उदाहरण के तौर पर सऊदी अरब इत्यादि
पर कोई भी मुस्लिम देश रोहिंग्या मुसलमानो को शरण नहीं दे रहा

वहीँ भारत में याकूब समर्थक वकील प्रशांत भूषण, हिन्दू विरोधी कांग्रेस पार्टी, अलकायदा आतंकी ज़ाकिर मूसा
ये सभी लोग रोहिंग्या मुसलमानो के समर्थन में उतरे हुए है

पत्रकार श्वेता सिंह ने भी ऐसे ही लोगों पर कटाक्ष किया और उन्होंने कहा की
रोहिंग्या मुसलमानो को मुस्लिम देश ही शरण क्यों नहीं दे रहे है, दुनिया में 50 से ज्यादा मुस्लिम देश है
जो आसानी से मुस्लिम शरणार्थियों को शरण दे सकते है पर वो रोहिंग्या मुसलमानो को शरण नहीं दे रहे

बता दें की सिर्फ रोहिंग्या ही नहीं मुस्लिम देश तो सीरिया के मुसलमानो को भी शरण नहीं देते न ही दिया
उन्हें भी यूरोप में शरण मिला
असल में ये बिलकुल एक सुनियोजित तरीके से उन इलाकों में मुसलमानो को बसाने की साजिश है जहाँ इस्लामिक देश नहीं है, ताकि मुसलमानो की संख्या बढे और इस्लामिक देश की मांग शुरू हो

भारत को भी इस्लामिक देश बनाने के ही मकसद से रोहिंग्या घुसाए जा रहे है
कश्मीर में रोहिंग्या नहीं है, पर उनको जम्मू में घुसाया क्या, ताकि जम्मू को भी इस्लामिक बहुल बनाया जा सके

कांग्रेस पार्टी के ही राज में रोहिंग्या मुसलमानो को भारत में घुसाया गया
कांग्रेस ने बांग्लादेशियों को घुसकर भी भारत के कई इलाकों को मुस्लिम बहुल किया था, जिसमे असम के धुबरी और कई अन्य इलाके शामिल है जहाँ हिन्दू समाप्त हो चुके है