रोहिंग्या आतंकियों के खिलाफ इजराइल ने म्यांमार भेजा सबसे धातक हथियार, मुस्लिम देशों के उड़े होश

नई दिल्ली : म्यांमार में रोहिंग्या आतंक से त्रस्त आ चुकी म्यांमार सरकार जिस तरह रोहिंग्या आतंकवादियों के खिलाफ कार्यवाही कर रही है, इसके बाद अब मुस्लिम देश म्यांमार के खिलाफ एकजुट होने लगे है. सबसे पहले रोहिंग्या आतंकियों की सहायता के लिए पाकिस्तान ने इन आतंकियों को हथियारों की खेप दी और अब ईरान और टर्की ने साझा प्रेस कांफ्रेंस करके म्यांमार को धमकी दी है.
मुस्लिम देशों ने दी म्यांमार को धमकी !
इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने तुर्की के विदेश मंत्री मौलूद चावुश ओग़लू, मलेशिया के विदेश मंत्री अनीफ़ा अमान, इंडोनेशिया के विदेश मंत्री रेत्नो मार्सुडी से टेलीफ़ोन पर बात की और रोहिंग्या मुसलमानों का नरसंहार रुकवाने के लिए इस्लामी देशो की ओर से कार्यवाही किए जाने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया.
इजराइल ने म्यांमार को दिए भारी मात्रा में हथियार !Image result for israeli pm
ईरान और तुर्की के राष्ट्रपति ने म्यांमार को धमकी दी है कि यदि जल्द ही रोहिंग्या मुसलमानो के खिलाफ कार्यवाही रोकी नहीं जाती है तो ईरान और टर्की अपनी सेना म्यांमार भेजेंगे. मुस्लिम देशों द्वारा मिली इस धमकी के बाद इजराइल एक्शन में आ गया है और पानी के कार्गो जहाज से इजराइल ने 100 टैंक, 25000 अत्याधुनिक राइफल, 6000 बम और अनगिनित गोलियां व् अन्य हथियार म्यांमार सेना की मदद के लिए भिजवा दिए हैं जो रविवार तक म्यांमार की सेना को मिल जाएंगे.
दरअसल इस्लामिक देश इजराइल के खिलाफ रहते हैं और अब इस्लामिक देश म्यांमार के खिलाफ भी एकजुट हो रहे है. इसी के चलते इजराइल म्यांमार के साथ आ गया है. वहीँ म्यांमार ने भी साफ़ कर दिया है कि वो अंतर्राष्ट्रीय दवाब में नहीं आने वाला और वो अपने देश की रक्षा के लिए रोहिंग्या आतंकियों पर कार्यवाही जारी रखेगा. औंग सेन सू की ने भी साफ़ कर दिया है कि म्यांमार सेना रोहिंग्या आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई जारी रखेगी. वहीँ अरबी मीडिया का कहना है कि म्यांमार को इजराइल का साथ मिल गया है, इसलिए म्यांमार के हौंसले बुलंद है.

पीएम मोदी ने भी म्यांमार को मदद का आश्वासन दिया है. बताया जा रहा है कि भारतीय सेना अब म्यांमार सेना को आतंकियों से निपटने की ट्रेनिंग देगी. दरअसल पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की सहायता से आतंकी संगठन रखें के आतंकियों को हथियार व् ट्रेनिंग दे रहे हैं. म्यांमार के खिलाफ जिहाद के लिए भड़का रहे हैं. इजराइल से मिले हथियारों और भारतीय सेना द्वारा ट्रेनिंग मिलने से पाक आईएसआई की नापाक योजना विफल होने की कागार पर पहुंच गयी है